सिर के पिछले हिस्से में दर्द के कारण (Causes of pain in the back of the head in hindi)

सिर के पिछले हिस्से में दर्द के कारण (Causes of pain in the back of the head in hindi):सिर के पिछले हिस्से में दर्द के कारण आज के जमाने में एक बहुत ही सामान्य बीमारी की तरह हो गया लगभग सभी लोगों को परेशान करती रहती है आजकल लोग ज्यादा काम के वजह से तथा रिलैक्स न लेने के कारण सर में दर्द बुरी तरह से बना रहता है 10 सिर के पिछले हिस्से में दर्द होने के बहुत सारे कारण होते हैं तथा उनके बहुत सारे उपचार होते हैं सिर के पिछले हिस्से में दर्द होना आम बात है क्योंकि हमारे शरीर को जब आराम नहीं मिलता है तो हमारे सर में दर्द हो जाता है तथा इसके अन्य बहुत सारे कारण हैं जैसे अर्ध कपारी माइग्रेन तथा जैन हेमरेज जैसे गंभीर बीमारियां भी इसके महत्वपूर्ण कारण हो सकते हैं आज हम आप लोगों को सर के पिछले हिस्से में दर्द के कुछ कारणों को बताना चाहते हैं जो नीचे निम्नलिखित है और आप लोग उनको देख कर उनके कारों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे

  • क्लस्टर सिरदर्द लेकिन यह एक माइग्रेन की तरह ही होता है जो कि अर्ध कपारी से थोड़ा अलग होता है इसमें सर का आधा भाग दर्द ना हो करके सर का पिछला भाग दर्द करता है या भी सर दर्द का प्रमुख कारण है।
  • पश्च कपाल तंत्रिका शूल यह दर्द सर के नसों में होता है इसी वजह से इसे पश्च कपाल तंत्रिका सोल कहते हैं क्योंकि ज्यादातर जो नशे होती हैं वह शरीर के पश्चिम भाग में ही जुड़ी होती हैं इसी वजह से इसे फर्स्ट कपाल तंत्रिका सोल दर्द कहा जाता है।
  • तनाव सिरदर्दतनाव तथा चिंता की वजह से हमारे सर में दर्द हो जाता है या इसलिए होता है क्योंकि लोग किसी घटनाक्रम की वजह से ज्यादा चिंतित तथा भगवा हो जाते हैं इसीलिए गर्दन के पिछले हिस्से तथा सिर के पिछले हिस्से में दर्द उत्पन्न हो जाता है।
  • साइनसाइटिस यह एक प्रकार का सिरका बीमारी है इसमें मस्तिक में सूजन उत्पन्न हो जाता है और सिर के पिछले हिस्से में दर्द बंद हो जाता है।
  • दाद वायरस हर्पीजयह एक ऐसा बीमारी है जो कि सर के पिछले हिस्से में बहुत तेज दर्द होने लगता है तथा अचानक ऐसा होता है कि दर्द सहने में असमर्थ हो जाता है मनुष्य।
  • कशेरुका धमनी विच्छेदन। यह भी एक प्रकार का सिर दर्द होता है जो कि अचानक गर्दन के नीचे तथा सर के पीछे उत्पन्न हो जाता है।
  • सूजी हुई लाश का ग्रंथियांया अभी एक प्रमुख कारण होता है सर दर्द का क्योंकि इसमें आंख नाक कान तथा गर्दन तथा गल्ला इन सारी चीजों में सूजन हो जाता है और उसका ग्रंथियां शूज जाती है इससे भी सर्व के पिछले हिस्से में दर्द उत्पन्न हो जाता है।
  • दिमागी बुखारयह भी एक प्रकार के सिर दर्द का कारण होता है क्योंकि इसमें शरीर में इतना बुखार हो जाता है कि सारी नसों में बहुत ज्यादा दिक्कत होने लगता है इसी वजह से सर दर्द होने लगता है तथा गर्दन तस्वीर के पीछे दर्द होता है।
  • अत्यधिक ऊंचाई पर जाने की वजह से भी सर दर्द होने लगता है क्योंकि वहां पर हम अनुकूल नहीं होते हैं इसी वजह से हमारा जो अनुकूलन तथा संतुलन क्षमता होती है बिगड़ जाती है।
  • खांसी यार यह प्रमुख कारण हो जाता है सिर दर्द का क्योंकि ज्यादा दिन तक खासी आने की वजह से और गंभीर बीमारी बन जाती है और हमारे सर के पिछले हिस्से में दर्द भी उत्पन्न हो जाता है।
  • सिर दर्द का प्रमुख कारण कार्डियक भी होता है क्योंकि यह हमारेहृदय से संबंधित होता है और जो चीजें हमारे हृदय से संबंधित होती है उस में दिक्कत आती है तो सर में दिक्कत आ सकती है।
  • डेंगू बुखारएक प्रकार से डेंगू बुखार में बहुत महत्वपूर्ण होता है सर दर्द के लिए क्योंकि यह एक संक्रमण बीमारी है जो मच्छरों के काटने से होती है और इसकी वजह से ही सर के पिछले हिस्से में दर्द हो जाता है।
  • माष्तिक का ट्यूमर यह भी एक प्रमुख कारण होता है सर दर्द का क्योंकि हमारे सर में एक प्रकार का बीमारी उत्पन्न हो जाता है जिसके वजह से है उसका बहुत तेज दर्द होने लगता है।

Table of Contents

सिर की नसों में दर्द होन / सिर के पिछले हिस्से में दर्द के कारण

इस दौर में कोई भी बीमारी को आप हल्के में नहीं ले सकते हैं चाहे वह कितना भी हल्का चोटों अथवा कितना भी अलका घाव आप उसको बहुत सामान्य तरीके से नहीं ले सकते क्योंकि आज इतना प्रदूषण फैल गया है कि हमारे और आपके पास इतने वायरस तथा संक्रमण फैल जाते हैं कि हम छोटी सी बीमारी से भी बहुत ज्यादा तंग आ जाते हैं तथा वह हमारे मौत का कारण बन सकते हैं इसीलिए हम आप लोगों को आज यह बताना चाहते हैं कि सिर की नसों में होने वाले दर्द को आप लोग किस प्रकार से कम कर सकते हैं तथा उसके बारे में आप लोगों की राय क्या होगी तथा उसके बारे में आप लोग किस प्रकार से जानकारी प्राप्त करें कि आप लोगों को यह समस्या आए तो आप उसका समाधान निकाल सकतेऔर मैं आप लोगों को बता दूं कि सिर की नसों में दर्द एक बहुत ही गंभीर बीमारी है इसको आप हल्के में नहीं ले सकते क्योंकि यह इतनी भयंकर बीमारी है कि आप इसे समझ नहीं सकते क्योंकि यह किस प्रकार से हो जाती है आपको पता भी नहीं चलता है सिर में दर्द चोट लगने के वजह से तथा ब्रेन हेमरेज होने की वजह से तथा अन्य बहुत सारे कारण हो सकते हैं उनके वजह से सिर की नसों में दर्द उत्पन्न हो जाता है और हम लोग परेशान हो

जाते हैं का घरेलू उपाय बताने के लिए तथा आयुर्वेदिक इलाज बताने के लिए हमने आप लोगों को यह जानकारी टेबल के माध्यम से देना चाहा है कि आप लोग उनके बारे में जानकारी प्राप्त कर सके और मैं आप लोगों को यह भी बताना चाहता हूं कि आपके सिर की नसों में दर्द उत्पन्न होता है हल्का-फुल्का भी तो आप तुरंत डॉक्टर की सलाह ले और तुरंत किसी गंभीर डॉक्टर को दिखाएं जो कि नेहरू लॉजिस्ट नसों का डॉक्टर हो तथा मास्टिक के बारे में अच्छी जानकारी रखता है अगर आपको ऐसे किसी भी डॉक्टर से संपर्क नहीं आता पता नहीं है तो आप हमें कमेंट करके बताइए हम आप लोगों की समस्या का समाधान कराने के लिए आपको जानकारी प्राप्त करवाएंगे के साथ साथ में आप लोगों को कुछ आयुर्वेदिक तथा कुछ घरेलू दवाओं के नाम की लिस्ट के माध्यम से देना चाहता हूं जो नीचे लिखें हैं।

आयुर्वेदिक तथा घरेलू उपचार सिर की नसों में दर्द के लिए।Ayurvedic and Home Remedies for Nerve Pain in Head
हल्दी का प्रयोग कीजिए दूध के साथ उसका सेवन कीजिए
विटामिन b12 का उपयोग कीजिए।
यूकेलिप्टस का तेल सर में मालिश करें।
अदरक का तेल लैवेंडर आयल का प्रयोग करें।
नसों में दर्द को खत्म करने के लिए योगा आसन भी उपयोगी होते हैं।
आप अपनी लाइफ स्टाइल में बदलाव करें इससे भी आपके नसों के दर्द में कमी आएगी
स्वर्ण तथा चांदी का भाष्खामने से भी नसों का दर्द कम होता है।
मीठे दही का प्रयोग करें
अरहर के दाल का सेवन करें
पतंजलि दवाओं का उपयोग।
Ayurvedic and Home Remedies for Nerve Pain in Head

इस प्रकार से आप लोग इन सारी चीजों का मित्रों से पालन करें तथा इन बताई गई औषधियों का उपयोग करें तो निश्चित ही आप इन सारी चीजों से फुर्सत पाएंगे तथा सर के नसों में दर्द से होने वाली समस्याओं का समाधान आप लोगों का खुद ब खुद मिल जाएगा और हमें आशा है कि आप लोग इन सारी चीजों पर विश्वास करेंगे तथा मेरे लोगों का उपयोग करना शुरू कर देंगे और आपको इन दवाओं से बहुतआराम मिलेगा और हमें आशा है कि आप लोग इन दवाओं का उपयोग करेंगे मैं आप लोगों को बता दूं कि अगर आपके सिर की नसों में दर्द उत्पन्न हो गया है तो आप उसे कम करने के लिए सबसे पहले रेगुलर अपने दैनिक क्रियाओं में बदलाव लाएंगे जैसे कि टाइम से उठना टाइम से सोना तथा नित्य क्रिया से टाइम से निर्मित होना उसके बाद में आप को योगा ध्यान खानपान इन सारी चीजों पर ध्यान देना होगा तालमेल में बिगाड़ के वजह से आपके नसों में दर्द होता है।

सिर के पिछले हिस्से में दर्द का इलाज (Back pain treatment)

सिर के पिछले हिस्से में दर्द होता है और आप उससे बहुत ज्यादा परेशान है तथा या ठीक होगा फिर पुनः हो जाता है आप लोग उस से परेशान हो तो उसके लिए मैं आप लोगों को उनके कुछ इलाज ओं के बारे में बताना चाहते हैं जो कि आप लोगों के लिए अत्यंत उपयोगी होगा उनमें से बहुत सारे इलाज है जैसे की आयुर्वेदिक इलाज घरेलू इलाज पतंजलि इलाज तथा अंग्रेजी दवाएं में से मैं आप लोगों को एक-एक करके विस्तृत जानकारी देना चाहता हूं और मैं आप लोगों को लिस्ट बनाकर या नहीं बताना चाहता हूं कि इसके कौन-कौन से इलाज के प्रकार होते हैं जो नीचे निम्नलिखित हैं

  1. सिर के पिछले हिस्से में दर्द के आयुर्वेदिक इलाज।
  2. घरेलू इलाज सिर के पिछले हिस्से में दर्द का।
  3. अंग्रेजी दवाओं का इलाज सिर के पिछले हिस्से में दर्द का
  4. सिर के पिछले हिस्से में दर्द का पतंजलि दवा।
  5. सिर के पिछले हिस्से में दर्द की होम्योपैथिक दवा।
  6. सिर के पिछले हिस्से में दर्द की एलोपैथिक दवा

इस प्रकार से हम लोग लोगों ने आप लोगों को यह जानकारी दे दिया है कि आप लोग किस-किस प्रकार की दवाइयों का उपयोग कर सकते हैं सिर के पिछले हिस्से में दर्द होने के बाद आप अंग्रेजी एलोपैथी होम्योपैथी आयुर्वेदिक घरेलू तथा अन्य प्रकार के इलाज हैं इनका उपयोग कर सकते हैं और उनके उपयोग से आप स्वस्थ रह सकते हैं इसके लिए हम आप लोगों को टेबल के माध्यम से देना चाहता हूं

सिर के पिछले हिस्से के दर्द का आयुर्वेदिक इलाजसिर के पिछले हिस्से के दर्द का घरेलू उपचार
बादाम का तेलपुदीने का रस
तुलसी के पत्तियों का सेवनपिपरमेंट का तेल
अदरक तथा हल्दी का सेवनतुलसी का तेल
मछली के यकृत का सेवन।सेब का सिरका
यूकेलिप्टस का तेलअदरक का तेल
सिर के पिछले हिस्से में दर्द का इलाज/Back pain treatment

इस प्रकार से हम आप लोगों को यह जानकारी दे सकते हैं कि जितने भी तेल तथा उसने भी खाद्य पदार्थ हमने आप लोगों को बताया उनका उपयोग आप अगर नियमित रूप से कर ले जाते हैं तो यह निश्चित है कि आप लोगों को इस से बहुत आराम मिलेगा तथा आप लोग सिर के दर्द से आराम पाएंगे और जो मैंने आप लोग इंटेलों के बारे में बताया है यह आयुर्वेदिक तथा घरेलू सभी जगह उपलब्ध हो सकते हैं तथा आयुर्वेदिक मेडिकल पर भी उपलब्ध हो सकते हैं तथा पतंजलि मेडिकल पर भी या मिल सकता है और आप लोग इनका उपयोग में मित्र रूप से करेंगे तो आप लोगों को अंग्रेजी दवाओं के लेने की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी और आपके सर का दर्द इतनी आसानसे खत्म हो जाएगा कि आपको पता भी नहीं चलेगा और मैं आप लोगों को यह बताना चाहता हूं और सुझाव देना चाहता हूं कि अगर यह दर्द इन सारी चीजों को करने से नहीं ठीक होता है ज्यादा दिन तक दर्द होता है तो आप तुरंत अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाएं तथा उसका जांच करवाएं तथा नसों के डॉक्टर तथा मास्टिक के डॉक्टरों की सलाह ले और उनके द्वारा बताए गए इलाज ओका करें तथा आपको अगर नहीं ठीक होता है तो उनसे अच्छे से अच्छे डॉक्टर को दिखाएं जिससे कि आप स्वस्थ रह सके धन्यवाद।

कनपटी में दर्द के कारण (Causes of Pain in the Temple)

कनपटी भी सिर का एक भाग होता है जिसमें कई कारणों से दर्द उत्पन्न हो जाता है जैसे कि वह आपका कहीं पर एक्सीडेंट हो गया है और चोट लग गया है उसके कारण भी आपके कनपटी में दर्द हो जाता है तथा कई प्रकार की बीमारियां भी होती है जिनके कारण हमारे कनपटी में दर्द उत्पन्न हो जाता है तथा बहुत सारे और अन्य कारण भी हैं जिनकी वजह से हमारे कनपटी में दर्द उत्पन्न होता है हम आप लोगों को आज उन सभी कारणों तथा उन सभी प्रकार के बारे में जानकारी देंगे जिनमें कि आप लोग बहुत ही अच्छे से इसकी जानकारी प्राप्त कर सके कि हमारे कनपटी में दर्द के कौन कौन से कारण हैं तो मैं आप लोगों को नीचे कुछ कारणों को एक लिस्ट के माध्यम से देना चाहता हूं तथा उसका विस्तार भी आप लोगों के सामने ही करूंगा जो नीचे में लिखित है

कनपटी में दर्द के कारण

इसके साथ साथ कई अन्य कारण भी होते हैं सिर दर्द की वजह से कनपटी में दर्द होने लगता है होने लगता है माइग्रेन की वजह से भी टेंशन है डक की वजह से प्लास्टर माइग्रेनतथा अन्य कई कारण होते हैं जिनकी वजह से हमारे शरीर के कनपटी में दर्द उत्पन्न हो जाता है और आज हम और आप परेशान हो जाते हैं इसीलिए मैं आपको बताना चाहता हूं किआप लोग इन सारे कारों के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए लिस्ट को देखिए आपको यहां पर सभी प्रकार की समस्याओं का समाधान मिल जाएगा और आप बहुत ही अच्छा महसूस करेंगे धन्यवाद।जैसा कि आप लोग जानते हैं कि हमारे मस्तिष्क में ऑक्सीजन तथा ग्लूकोसपर्याप्त मात्रा में उपस्थित रहते हैं अगर इनकी कमी हमारे मास्टिक में हुई तो हमारे सिर में ब्लड बैलेंस की समस्या उत्पन्न हो जाती है जिसके वजह से हमारे कनपटी में दर्द उत्पन्न हो जाते हैं जिसके निम्न लिखित कारण है जो नीचे दिए गए

  • हारमोंस परिवर्तन की वजह से भी कनपटी में दर्द होने लगता है।
  • नींद पूरी ना होना तथा अधिक समय तक भूखा रहना।
  • अधिक तनाव तथा खान-पान की गलत रैबिट की वजह से 20 कनपटी में दर्द उत्पन्न हो जाता है।
  • अनुवांशिक कारण भी यह हो सकता है।
  • चश्मे के नंबर बढ़ जाने की वजह से भी सर में दर्द उत्पन्न हो जाता है।
  • शारीरिक व मानसिक तनाव की वजह से।
  • गलत तरीके से बैठने की वजह से।
  • एंजाइटी थकान तथा अधिक शर्म करने की वजह से भी कनपटी में दर्द बंद हो जाएगा।
  • जाटों के बीमारी से भी कनपटी में दर्द हो सकता है।
  • आर्म पेन किलर दवाएं जैसे किस्क्रीन आज का रोजाना अधिक मात्रा में सेवन करना भी कंपनी में दर्द का प्रमुख कारण बन जाता है।
  • अल्कोहल लिया सिगरेट की अधिक गंदगी वजह से भी कणपति में दर्द उत्पन्न होता है।
  • इंफेक्शन एलर्जी अथवा कोल्ड फ्लू की वजह से भी सिर में दर्द हो जाता है।

कनपटी में दर्द के लक्षण हम पट्टी में दर्द केबहुत सारे लक्षण है जो नीचे दिए गए हैं आप लोग उनका उपयोग कर सकते हैं जो लिस्ट के माध्यम से दिए गए

  • घबराना सिर भारी होना उल्टी होना इत्यादि
  • फोटोफोबिया तथा मोनोफोबिया इसमें लाइट नहीं दिखती है तथा एक में आवाज सुनाई नहीं देता।
  • कान नाक तथा गर्दन की नसों के आपसी संतुलन को बिगड़ना तथा उस में फूल जाना।
  • दर्द तीव्र तथा धीमे-धीमे बढ़ने लगती है।
  • आंखों का भारी होना
  • सिर के बालों की जड़ों में दर्द होना।
  • कान गले और जबड़े के मसल्स में ऐठन होना।
  • सिरका कपड़े से बना हुआ हूं ना।
  • आंखों से पानी आना
  • आंखों में सूजन तथा तेज दर्द होना
  • नाक का बहना या बंद होना
  • बेचैनी होना थकान महसूस करना
  • पलकों के आसपास सूजन होना
  • सिर के एक तरफ दर्द होना
  • नासिक पीले तोता हरे रंग का डिस्चार्ज होना

गैस के कारण सिर दर्द (Headache due to gas)

गैस के कारण सिर दर्द भी एक गंभीर समस्या है क्योंकि बहुत सारे लोगों को यह पता ही नहीं रहता है कि हमारा सर दर्द होता क्यों है आखिर इसका कारण क्या है तो मैं आप लोगों को यह बताना चाहता हूं कि सिर दर्द के बहुत सारे कारण हो सकते हैं जैसे की चोट लगना अथवा अनुकूल परिस्थितियों में उपस्थित नहीं रहना अथवा खराब लाइफस्टाइल इसके साथ-साथ खानपान तथा बहुत सारी नशीली दवाओं का उपयोग करने की वजह से तथा तंबाकू तथा अल्कोहल जैसे नशीले पदार्थों के सेवन से तथा बहुत सारे ऐसे अंग्रेजी दवाइयां हैं इनके सेवन से लगातार मदद में दर्द उत्पन्न हो जाता है इसी प्रकार गैस भी एक गंभीर कारण है सर दर्द होने का क्योंकि वैसे भी किसी का सर वैसे नहीं होता है कोई ना कोई उसका कारण होता है इसी कारण के चलते मैं आप लोगों को आज यह बताना चाहता हूं कि अगर आपका सर दर्द हो रहा है तो आप अपने पेट में गैस को भी खत्म कर के दर्द को खत्म कर सकते हैं कभी-कभी खाना पचता नहीं है और गैस बन जाता है इसी वजह से हमारे सर में दर्द उत्पन्न हो जाता है हम लोगों को सर दर्द को खत्म करने के लिए पेट की गैस को खत्म करना चाहेंगे और पेट की गैस को खत्म करने के लिए सबसे सरल तरीका उपाय है आप गर्म पानी के साथ उसमें थोड़ा शहद तथा नींबू डालकर रेगुलर सुबह-शाम कीजिए इससे आप का गैस खत्म हो जाएगा और आप स्वस्थ रहेंगे इसके साथ-साथ मैं आप लोगों को आयुर्वेदिक दवाओं में से बताना चाहता हूं कि आप लोग त्रिफला चूर्ण का प्रयोग कीजिए जिससे कि आपको गैस से राहत मिलेगा और आप के सर में दर्द नहीं उत्पन्न होगा इसके साथ में आप लोगों को पतंजलि दवाओं में बताना चाहता हूं कि आपको एलोवेरा का जूस पीना चाहिए जिससे कि आपका सर दर्द ना हो और आपके पेट में गैस की समस्या उत्पन्न हो इसी के साथ मैं आप लोगों को इन सारी चीजों के बारे में विस्तृत जानकारी देना चाहता हूं और आप लोग को यह बताना चाहता हूं कि आप लोग इसको किस प्रकार से कम कर सकते हैं और हमें आशा है कि आप लोग इन सारी जानकारी को बहुत ही गंभीरता से लेंगे और इन सारी चीजों पर बहुत ही अच्छे से बात करेंगे और हमें आशा है कि आप लोग इन सारी प्रक्रियाओं को कर कर अपने स्वास्थ्य को बनाए रखने में बहुत महत्वपूर्ण योगदान निभाएंगे इसी के साथ में आप लोगों का धन्यवाद करते हुए अपनी जानकारी समाप्त करता हूं।

कान के ऊपर सिर में दर्द (Headache above ear)

हमारे शरीर में आंख नाक कान तथा जी हां तथा अन्य बहुत सारे नाजुक अंग होते हैं जो की अगर यहां पर थोड़ा सा भी चोट लग जाए अथवा कोई कारणवश कुछ हो जाए अथवा कोई बीमारी हो जाए तो इनका दर्द असहनीय हो जाता है जिसको हम सह नहीं सकते और बहुत परेशान हो जाते हैं इस को सहन करने के लिए हमको कोई ना कोई दवाओं का उपयोग करना पड़ता है अथवा डॉक्टर के पास जाकर उनका अच्छा इलाज करवाना पड़ता है इसीलिए मैं आप लोगों को आज इस पोस्ट में यह बताना चाहता हूं कि आप लोग चाहे कोई भी समस्या हो उसको हल्के में ना लीजिए बहुत सारे लोगों को कान के ऊपर दर्द होने लगता है जो ज्यादा टाइम से होता रहता है और गंभीर बीमारी के रूप में अपना स्थान बना लेता है जो कि हम लोगों के लिए बहुत हानिकारक होता है और उसका मात्र एक ही इलाज है वह है कि आप अपने लाइफ स्टाइल में बदलाव करें और नियमित रूप से योग और व्यायाम तथा अन्य सारी व्यायाम करें जिससे आप तथा आपके सारे लोग स्वस्थ एवं खुशी-खुशी रह सके इसके लिए मैं आप लोगों को या बताना चाहूंगा कि आप लोग के अगर सर में कोई दिक्कत होता है तथा कान में नाक में आंख में कोई ऐसी दिक्कत आती है तो आप तुरंत मस्तिष्क संबंधी डॉक्टर को दिखाएं और उनसे इलाज करवाएं यही हमारी आप से निवेदन है।

सिर दर्द के घरेलू उपाय (home remedies for headache)

आज के जमाने में सिर दर्द एक गंभीर समस्या के रूप में उत्पन्न हुए हैं जोकि लाखों लोगों को होता है उसमें से माइग्रेन ब्रेन टयूमर ब्रेन हेमरेज तथा बहुत सारी अन्य गंभीर बीमारियां हैं जो कि आज लोगों को उनके मस्तिष्क के लिए बहुत कष्टदायक होती हैं और उनको परेशान करती हैं इसीलिए मैंने सोचा कि आप लोगों को आज कुछ सिर दर्द के घरेलू उपचार के बारे में जानकारी दो जिसे आप लोग उनके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें और अपने घर में ही तथा बिना किसी साइड इफेक्ट वाली दवाओं का उपयोग कर सकें जिससे हमारे शरीर को नुकसान ना हो और हमारे सर का दर्द भी खत्म हो जाए इसके लिए मैं आप लोगों को एक टेबल के माध्यम से कुछ जानकारी देना चाहूंगा और उनके दवाओं के नाम भी लिखा रहेगा जिससे कि आप लोग बहुत ही अच्छे से उन सारी चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके तथा उन सारी दवाओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके जो कि एक सिर दर्द बीमार को उसका इलाज करवा सके जी के साथ साथ में आप लोग को बहुत-बहुत धन्यवाद देता हूं और इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका आभार व्यक्त करता हूं।

सिर दर्द के घरेलू उपाय/home remedies for headache
मालिश करना भी एक महत्वपूर्ण है।
योगा करना।
वॉकिंग करना
व्यायाम करना।
तुलसी के तेल से मालिश करना
अदरक का तेल से मालिश करना
सरसों का तेल सर में लगाना
बाबा रामदेव जी द्वारा बनाई गई माल हम का उपयोग करना पतंजलि दवा का
आपको उसके लिए मसाज कराना
हींग तथा लॉन्ग कालेपन करना
सिर दर्द के घरेलू उपाय/home remedies for headache

सिर दर्द औरत आँखों में दर्द के कारण इन हिंदी (Causes of headache and pain in eyes in hindi)

सिर दर्द आजकल का एक बहुत ही सामान्य रोग है इसमें घबराने की कोई बात नहीं है सिर दर्द को कैसे बड़ी बीमारी में आप ही लोग तब्दील कर लेते हैं आप लोग समझ नहीं पाते हैं कि किस कारण से सर दर्द इतना बढ़ गया तो मैं आप लोगों को बता दूं कि ज्यादा धूप में काम करने से सर पर ज्यादा बुझा रखने से तथा बहुत ज्यादा मानसिक तनाव रखने से तथा ज्यादा चिंतन करने से हमारे सर में दर्द उत्पन्न हो जाता है और प्रकाश की वजह से हमारी आंखें भी खराब हो जाती है तो मैं आप लोगों को एक कारण यह भी बताता हूं कि आपके खराब होने की वजह से भी हमारे सर में दर्द उत्पन्न हो जाता है इसीलिए मैं आप लोगों को बताना चाहता हूं कि सर और आंख में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं और आप लोग उसे आसानी से समझ सकते हैं और मैं आप लोगों को उनके कार्यों के बारे में लिखें।

  • सिर दर्द और आंखों के दर्द का प्रमुख कारण है कि हम लोगमोबाइल फोन का यूज ज्यादा करते हैं इससे हमारे आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है।
  • हम धूप में कार्य करते हैं इसीलिए।
  • हम अपने लाइफ स्टाइल में बदलाव करते रहते हैं इसी वजह।
  • अचानक चोट लगने के कारण।
  • ब्रेन हेमरेज ऐसे खतरनाक बीमारी होने की वजह से
  • ग्लूकोमा बीमारी होने की वजह से जो हमारी आंखों को प्रभावित करती है।
  • ब्रेन ट्यूमर होने की वजह से।
  • टेंशन तथा तनाव से
  • गहन चिंतन करने की वजह से।
  • दिल में चोट लगने की वजह से
  • आंखों में मोतियाबिंद होने की वजह से
  • आंखों के लाल होने की वजह से।
  • बालों की सूखा हो जाने की वजह से।

इसप्रकार से हम लोग कह सकते हैं कि अगर हम लोग इन सारी गलतियों को दोहराएं ना तथा इन सारे कारणों को ध्यान में रखते हुए इनके बारे में विचार किया जाए तथा इनको नियमों का पालन किया जाए तथा जिन चीजों को नुकसान बताया जाता है उन पर परहेज किया जाए तो हमें आशा है कि हम लोग सिर दर्द से बच सकते हैं तथा सिर दर्द का उपाय ढूंढ सकते हैं इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए मैं आप लोगों से निवेदन करता हूं कि आप लोग इन सारी चीजों को नियमित रूप से पालन करें और हमें आशा है कि आप लोग स्वस्थ हो जाएंगे और आपको सिर दर्द की समस्या।

सिर दर्द और आँखों में दर्द के कारण upay (Upay due to headache and pain in eyes)

अभी हम आप लोगों को सिर दर्द के कारण बता रहे थे अब हम आप लोगों को सिर दर्द ना हो इसके उपाय बताना चाहता हूं और मैं आप लोगों को बताना चाहता हूं कि अगर आपको सिर दर्द हो रहा है और आप उससे बहुत परेशान हैं तथा आप माइग्रेन ब्रेन हेमरेज ब्रेन ट्यूमर तथा चोट से होने वाले सिर दर्द से परेशान हैं तो मैं आप लोगों को साफ-साफ बताना चाहता हूं कि अगर आप को ब्रेन हेमरेज ब्रेन ट्यूमर तथा माइग्रेन उसके साथ-साथ आपको अगर चोट लगा है तो आप तुरंत डॉक्टर के सलाह से उसका इलाज करवाएं और अगर आपको वैसे माइग्रेन जैसे कि अर्ध कपारी जिसको कहते हैं आपका आधा सर दर्द करता है कभी-कभी हफ्ते हफ्ते तक दर्द करने लगता है तो इसका इलाज आप घर पर ही कर सकते हैं उसके लिए मैं आप लोगों को कुछ इलाज बताऊंगा जिस के उपयोग से आप बहुत ही आसानी से उन सारी चीजों को एक्सेप्ट कर पाएंगे और अपने आप को स्वस्थ रख पाएंगे इन सभी चीजों को ध्यान में रखते हुए मैं आप लोगों को चीजों के बारे में बताना चाहता हूं कि उनके उपाय क्या है और आप क्या कर के स्वस्थ रह सकते हैं आप लोग नीचे एक टेबल के माध्यम से देख सकते हैं कि उसमें कौन-कौन सा उपाय बताया गया है जिससे आप लोग सिर दर्द था आंखों के दर्द से बच सकते हैं और उसका इलाज कर सकते हैं तो आप लोग नीचे टेबल में देख सकते हैं।

यदि संक्रमण के कारण आंखों में तथा सर में दर्द हो रहा है तो आप इसके लिए तुरंत गुलाब जल का प्रयोग कर सकते हैं जो कि आंखों को ठंडक देने का काम करता है

इसके बाद आपको अगर इससे भी आराम नहीं मिलता है तो आप तुरंत तुलसी के पत्ते का रस लगाकर दर्द से आराम पा सकते हैं

और अगर आपको इससे भी आराम नहीं मिलता है तो आप आलू को काटकर उससे रस निकालकर उसको भी अगर अपने आप माथे पर लगाएंगे तो इससे आराम मिलेगा

सबसे सस्ता तथा घरेलू उपाय है कि आप सिर दर्द कर रहा है तो भी सर में लगा है वह भी गाय का तो आपको इससे राहतें मिलेगा

गर्म पानी से अपने मध्य तथा आंखों के पलकों कर दोगे तो भी आपके आंखों तथा सर दर्द को आराम मिलेगा।

आंवले का पाउडर खाइए तथा उसको अपने माथे पर लेपन कीजिए उससे भी आपके आपको तथा सर के दर्द से आराम मिलता है

अनार के पत्ते का पेस्ट आप लगाइए तो उससे भी आपको फायदा मिलेगा।

सिर दर्द और आँखों में दर्द के कारण upay/Upay due to headache and pain in eyes

निष्कर्ष (conclusion)

और इस पोस्ट को पूरा पढ़ने तथा समझने तथा दूसरे पोस्ट से तुलना करने के बाद हमें यह निष्कर्ष निकला कि इस पोस्ट में सर दर्द के तथा आंखों के दर्द के बारे में उसके कारण लक्षण तथा उपाय के बारे में विस्तृत जानकारी दिया गया है जिससे कि आप सभी लोगों को इससे अच्छी जानकारी प्राप्त होगी और आप लोग उसके भागीदारी बनेंगे जो कि इसका मतलब होता है।

सर दर्द की सबसे अच्छी टेबलेट कौन?

combiflam dolo sprin etc यह सब सर दर्द के सबसे बेहतरीन टेबलेट माने जाते हैं।

आंख दुखे तो क्या करना चाहिए?

यदि संक्रमण के कारण आंखों में तथा सर में दर्द हो रहा है तो आप इसके लिए तुरंत गुलाब जल का प्रयोग कर सकते हैं जो कि आंखों को ठंडक देने का काम करता है
इसके बाद आपको अगर इससे भी आराम नहीं मिलता है तो आप तुरंत तुलसी के पत्ते का रस लगाकर दर्द से आराम पा सकते हैं
और अगर आपको इससे भी आराम नहीं मिलता है तो आप आलू को काटकर उससे रस निकालकर उसको भी अगर अपने आप माथे पर लगाएंगे तो इससे आराम मिलेगा
सबसे सस्ता तथा घरेलू उपाय है कि आप सिर दर्द कर रहा है तो भी सर में लगा है वह भी गाय का तो आपको इससे राहतें मिलेगा
गर्म पानी से अपने मध्य तथा आंखों के पलकों कर दोगे तो भी आपके आंखों तथा सर दर्द को आराम मिलेगा।
आंवले का पाउडर खाइए तथा उसको अपने माथे पर लेपन कीजिए उससे भी आपके आपको तथा सर के दर्द से आराम मिलता है
अनार के पत्ते का पेस्ट आप लगाइए तो उससे भी आपको फायदा मिलेगा।

माइग्रेन अर्थ कपारी का परमानेंट इलाज क्या है?

माइग्रेन तथा अर्ध कपारी का परमानेंट इलाज है कि आप चाय में अदरक डालकर पीजिए तथा अदरक तथा सूट का प्रयोग ज्यादातर कीजिए।

सिर दर्द में कौन सा पॉइंट दबाए?

सिर दर्द बहुत तेजी से हो जाए तो था माइग्रेन की समस्या अगर है आपको तो आप अपनी आंखों के बगल में दोनों तरफ जो गड्ढे होते हैं उन्हें मैं अपना अंगूठा रखकर दबाए तो उसे आराम मिलता है।

सिर दर्द के घरेलू उपाय?

सिर दर्द के बहुत सारे घरेलू उपाय हैं तुलसी के पत्ते का रस लॉन्ग हींग गर्म पानी काली मिर्च इत्यादि।

सिर दर्द तुरंत ठीक कैसे करें?

सिर दर्द को तुरंत ठीक करने के लिए आप नींबू पानी का सेवन कीजिए तथा से पर नमक लॉन्ग की पोटली सुनिए तथा हींग खाइए अदरक खाइए

रोज सिर दर्द क्यों होता है?

अधिक धूप में काम करने की वजह से पानी की कमी हो जाना अथवा बहुत ज्यादा धूप में काम करना इसी वजह से हमारे शरीर में दर्द बना रहता है तथा सिर में दर्द बना रहता है इसके अलावा ब्रेन हेमरेज ब्रेन ट्यूमर तथा माइग्रेन जैसी गंभीर समस्याओं का हो जाना।

Leave a Comment